रूपए मंगवाने हेतु पिताजी को पत्र

८४ – बी , गुलशन बाज़ार
नयी दिल्ली
दिनांक – १५/०५/२०१७

पूज्य पिताजी,
चरण स्पर्श! आशा है कि आपका  स्वास्थ्य ठीक होगा. माता जी और राहुल अच्छे होंगे! मैं यहाँ पढाई में मग्न हूँ. सब ठीक चल रहा है. पिता जी, मुझे दो पुस्तकें, कुछ कॉपियाँ तथा एक पैंट ख़रीदनी है. इसके लिए १५०० रुपएँ की आवश्यकता है. यह राशि मुझे शीघ्र भिजवाने का प्रबंध करें. पुस्तक के बिना मुझे कठिनाई आ रही है.

शेष शुभ ! माता जी को प्रणाम ! राहुल को स्नेह !

आपका सुपुत्र
राजीव

Leave a comment

Your email address will not be published.