छोटे भाई को पत्र कि अधिक सिनेमा देखने से क्या – क्या हानियाँ होती हैं

बृजमोहन कुञ्ज
नयी दिल्ली
दिनांक – ८ मार्च २०१७

प्रिय रमेश सदा खुश रहो आज ही मुझे तुम्हारे अध्यापक का पत्र प्राप्त हुआ. मुझे यह जानकार अत्यंत दुःख हुआ कि तुम अपना समय पढाई – लिखाई में न लगा कर सिनेमा देखने में बिता रहे हो. यह अच्छी बात नहीं है. इस शौक से लाभ की जगह हानि ही होती है . देखो ,तुम अभी विधार्थी हो. सिनेमा मनोरंजन का एक साधन है जिससे थके मांदे लोग अपना मनोरंजन करते हैं, लेकिन यदि तुम इस समय सिनेमा देखने लगोगे तो तुम्हारी पढाई पर इसका विपरीत असर होगा. समय के साथ – साथ धन की भी हानि होगी और सिनेमा देखने से उसके अन्दर की गलत बातें तुम्हारे दिलोदिमाग पर असर करेंगी. इसीलिए यदि परीक्षा में अच्छे अंको से पास होना है, तो तुम्हें इस आदत को बदलना होगा. आशा है कि तुम अपने बड़े भाई कि बातों को अन्यथा न लेते हुए इस पर ध्यान से अमल करोगे. माँ और पिता जी की तरफ से तुम्हे आशीर्वाद

तुम्हारा भाई
प्रियतोश

Leave a comment

Your email address will not be published.