खाद्य पदार्थों में बढ़ती मिलावट हेतु पत्र

सेवा में,
स्वास्थ्य अधिकारी,
दिल्ली नगर निगम,
दिल्ली – 75

विषय – खाद्य पदार्थों में बढ़ती मिलावट हेतु पत्र

महोदय,
मैं आपका ध्यान दिल्ली में बढ़ रही खाद्य वस्तुओं में मिलावट की ओर दिलाना चाहता हूँ. आजकल बाज़ार में हल्दी में पीली मिट्टी, काली मिर्च में पपीते के बीज, मसलों में बुरादा,दाल,चावलों में छोटे कंकड़ ,तेल में आर्ज्मों ,आइसक्रीम में ब्लास्टिंग पेपर आदि मिलाया जा रहा है . दूध, घी आदि में मिलावट तो पुरानी बात है. आज के व्यापारी में मानवता नाम की कोई गुण नहीं रह गया है जिससे ग्राहक का जीवन संकट में पड़ गया है. मिलावट के नए – नए तरीके खोजे जा रहे है . कोई भी खाद्य वस्तु शुद्ध नहीं रह गयी है. सबसे हैरानी की बात है कि इस सबके बाद में खाद्य विभाग में कानों में जूँ नहीं रेंगती . व्यापारी धड़ल्ले से मिलावटी खाद्य वस्तुएं बेच रहे हैं. उन्हें किसी कानून का डर नहीं क्योंकि कभी किसी के विरुद्ध कोई मामला दर्ज ही नहीं किया गया है. इसीलिए आपसे निवेदन है कि ऐसे व्यापारियों के विरुद्ध तुरंत कड़े कदम उठाये जाएँ.

भवदीय
रजनीश सिंह
विकासनगर,
नयी दिल्ली
दिनांकः १६/१०/२०१७

Leave a comment

Your email address will not be published.