हिंदी व्याकरण

सभी Competitive Exam के लिए Android App

  1. अपभ्रंश के प्रथम महा कवि – स्वयंभू
  2. अपभ्रंश का प्रथम कड़वक बद्ध-पउम चरित्र -स्वयं भू (7 चौपाई के बाद एक दोहा क्रम रचना)
  3. अपभ्रंश के प्रथम ऐतिहासिक वैयाकरण -हेमचंद्र
  4. हिंदी के प्रथम कवि -सरहपा 9 वी सदी
  5. हिंदी में दोहा चौपाई का सर्वप्रथम प्रयोग- सरहपा
  6. हिंदी की प्रथम रचना- श्रावकाचार देवसेन कृत
  7. हिंदी साहित्य की प्रथम रचना -पृथ्वीराज रासो चंद्र बरदाई
  8. हिंदी साहित्य का प्रथम महाकाव्य- पृथ्वीराज रासो
  9. हिंदी काव्य में प्रथम बारहमासा वर्णन – बीसलदेव रासो
  10. किसी भारतीय भाषा में रचित इस्लाम धर्मावलंबी कवि की प्रथम रचना- संदेश रासक (अब्दुल रहमान)
  11. अवहट्ठ का सर्वप्रथम प्रयोग- विद्यापति ने कीर्ति लता में
  12. हिंदी के सर्वप्रथम गीतकार -विद्यापति
  13. हिंदी में सर्वप्रथम मुकरियों की शुरुआत -अमीर खुसरो
  14. भक्ति के प्रवर्तक -रामानुजाचार्य
  15. हिंदी के प्रथम सूफी कवि -असायत
  16. सूफी प्रेमाख्यान का प्रथम काव्य- हंसावली असायत
  17. हिंदी का प्रथम बड़ा महाकाव्य – हंसावली( असायत )
  18. हिंदी का प्रथम वक्रोति कथात्मक महाकाव्य- पद्मावत
  19. हिंदी की आदि कवियत्री -मीराबाई
  20. कृष्ण भक्ति काव्य का सबसे प्रसिद्ध काव्य- सूरसागर (सूरदास)
  21. राम भक्ति का सबसे प्रसिद्ध काव्य- रामचरितमानस (तुलसीदास )
  22. भक्तिकाल को काव्य का स्वर्ण युग घोषित करने वाला प्रथम व्यक्ति -जॉर्ज ग्रियर्सन
  23. सर्वप्रथम सतसई परंपरा का आरंभ – तुलसी सतसई (अधिकांश कृपाराम की हित तरंगिणी को मानते हैं)
  24. रीति काव्य का सर्वप्रथम ग्रंथ -हित तरंगिणी -कृपाराम
  25. खड़ी बोली में लिखित सर्वप्रथम काव्य ग्रंथ -श्रीधर पाठक द्वारा अनुवादित( हरमिट)-एकांतवासी योगी
  26. खड़ी बोली के प्रथम स्वच्छंदतावादी कवि- श्रीधर पाठक
  27. खड़ी बोली का प्रथम महाकाव्य -प्रियप्रवास- हरिऔंध
  28. गीतिकाव्य शब्द का सर्वप्रथम प्रयोग -लोचन प्रसाद पांडेय ने कुसुमनमाला की भूमिका में
  29. छायावाद की प्रथम कृति -झरना 1918 प्रसाद
  30. शुक्लानुसार छायावाद का प्रथम प्रतिनिधि कवि- पंत
  31. मुक्तछंद का प्रथम प्रयोगकर्ता -निराला -जूही की कली में
  32. निराला की प्रथम कविता – जूही की कली -1916
  33. प्रयोगवाद शब्द का प्रथम प्रयोग -नंददुलारे वाजपेई
  34. नई कविता नाम दिया -अज्ञेय ने
  35. अज्ञेय की प्रथम काव्य कृति -भग्न दूत 1933
  36. प्रेमचंद का प्रथम उपन्यास- प्रेमा अर्थात दो सखियों का विवाह 1907 हम खुर्मा व हम सवाब का हिंदी रुपांतर
  37. हिंदी का प्रथम उपन्यास -परीक्षा गुरु लाला श्रीनिवास दास कृत
  38. प्रेमचंद का मूल रूप से हिंदी में लिखित प्रथम उपन्यास -कायाकल्प 1926
  39. जैनेंद्र का प्रथम उपन्यास-परख 1929
  40. इलाचंद्र जोशी का प्रथम उपन्यास -घृणामयी 1929
  41. भगवती चरण वर्मा का प्रथम उपन्यास- चित्रलेखा 1934
  42. अज्ञेय का प्रथम उपन्यास- शेखर एक जीवनी 1941
  43. रेणु का प्रथम उपन्यास -मैला अंचल 1954
  44. निर्मल वर्मा का प्रथम उपन्यास -वे दिन 1964
  45. हिंदी की प्रथम मौलिक कहानी -इंदुमती – किशोरीलाल
  46. हिंदी की प्रथम कहानी लेखिका -बंग महिला( राजेंद्र बाला घोष) कहानी -दुलाई वाली
  47. प्रसाद की प्रथम कहानी -ग्राम 1911(इंदु पत्रिका में )
  48. प्रेमचंद की प्रथम कहानी- पंच परमेश्वर 1916
  49. निर्मल वर्मा का प्रथम कहानी संग्रह – परिदें 1960
  50. कमलेश्वर का प्रथम कहानी संग्रह -राजा निरबंसिया 1957
  51. हिंदी का प्रथम मौलिक नाटक – (भारतेंदु ने माना) नहुष -गोपाल चंद्र आनंद रघुनन्दन -प्राणचंद चौहान
  52. हिंदी का प्रथम अभिनीत नाटक -जानकी मंगल (शीतला प्रसाद खत्री)
  53. प्रसाद का प्रथम ऐतिहासिक नाटक -राज्यश्री 1915
  54. हिंदी का प्रथम एकांकी -एक घूंट (प्रसाद)
  55. आचार्य रामचंद्र शुक्ल की पहली सैद्धांतिक आलोचना कृति -काव्य में रहस्यवाद
  56. रस विवेचन को पहली बार मनोवैज्ञानिक आधार प्रदान किया -रामचंद्र शुक्ल ने
  57. हिंदी में साधारणीकरण के संबंध में पहला चिंतन- रामचंद्र शुक्ल
  58. साधारणीकरण का प्रथम प्रयोगकर्ता -भट्टनायक
  59. हिंदी में प्रथम आत्मकथा -अर्द्धकथानक 1641 -बनारसीदास जैन
  60. हिंदी में प्रथम जीवनी -भक्तमाल -1585 नाभादास (प्रथम मौलिक जीवनी लेखक -कार्तिक प्रसाद खत्री – मीराबाई का जीवन चरित्र -1883अहल्या बाई का जीवन चरित्र-1889)
  61. हिंदी में प्रथम संस्मरण -हरिऔंध का संस्मरण (बालमुकुंद गुप्त)
  62. हिंदी में प्रथम रेखाचित्र -पदम पराग (1929 )पदम सिंह शर्मा
  63. हिंदी में प्रथम यात्रा वृतांत- लंदन यात्रा 1883 श्रीमती हर देवी
  64. हिंदी में प्रथम रिपोर्ताज -लक्ष्मीपुरा -1938 शिवदान सिंह चौहान
  65. हिंदी गद्य काव्य की प्रथम रचना- साधना (राय कृष्णदास)
  66. हिंदी साहित्य इतिहास का प्रथम व्यवस्थित ग्रंथ- हिंदी साहित्य का इतिहास( रामचंद्र शुक्ल)
  67. परंपरा की दृष्टि से रचित हिंदी साहित्य इतिहास का प्रथम ग्रंथ -हिंदी साहित्य की भूमिका (हजारी प्रसाद द्विवेदी)
  68. साहित्य इतिहास का प्रथम मार्क्सवादी ग्रंथ कार- रामविलास शर्मा
  69. खड़ी बोली पद्य का प्रथम प्रयोगकर्ता अमीर- खुसरो
  70. खड़ी बोली की प्रथम गद्य रचना -चंद छंद बरनन की महिमा गंग कवि
  71. खड़ी बोली में साहित्य स्वरूप का सर्वप्रथम प्रयोग किया- रामप्रसाद निरंजनी ने योग- भाषा वशिष्ठ में
  72. किसी भारतीय द्वारा देशी भाषा में प्रकाशित प्रथम पत्र- संवाद कौमुदी 1821 सं.राजा राममोहन राय
  73. प्रथम हिंदी पत्र -उदंत मार्तंड 30 मई 1826
  74. सर्वप्रथम हिंदी दैनिक पत्र- समाचार सुधा वर्षण 1854
  75. हिंदी की प्रथम लघु पत्रिका -नए पत्ते -लक्ष्मीकांत वर्मा
  76. हिंदी में प्रकाशित प्रथम ग्रंथावली -भारतेंदु ग्रंथावली
  77. हिंदी के लिए प्रथम साहित्य अकादमी पुरस्कार- हिम तरंगिनी माखनलाल चतुर्वेदी 1955
  78. ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित प्रथम हिंदी साहित्यकार पंत – 1968 चिदम्बरा
  79. ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित प्रथम हिंदी महिला साहित्यकार -महादेवी वर्मा यामा -1982
  80. प्रथम व्यास सम्मान -भारत के भाषा परिवार और हिंदी( डॉक्टर रामविलास शर्मा 1991)
  81. प्रथम विश्व हिंदी सम्मेलन -नागपुर -1975
  82. एम.ए .हिंदी का सर्वप्रथम शिक्षण प्रारंभ हुआ- काशी हिंदू विश्वविद्यालय में 1921
  83. काशी हिंदू विश्वविद्यालय के प्रथम हिंदी विभागाध्यक्ष -श्यामसुंदर दास
  84. साहित्य अकादमी का प्रथम अध्यक्ष- पंडित जवाहरलाल नेहरु
  85. हिंदी साहित्य परिषद का प्रथम अध्यक्ष -पुरुषोत्तम दास टंडन
  86. संयुक्त राष्ट्र संघ में हिंदी में भाषण देने वाला प्रथम व्यक्ति- अटल बिहारी वाजपेई 1977
  87. हिंदी भाषा का प्रथम वैज्ञानिक इतिहास -हिंदी भाषा का इतिहास 1933- धीरेंद्र वर्मा
  88. हिन्दी का पहला स्वतन्त्र मौलिक निबंध -राजा भोज का सपना (राजा शिवप्रसाद सितारे हिन्द)
  89. प्राचीनतम गद्य – पद्य(चम्पू )काव्य -राउरवेळ -रोड़ा कवि
  90. ब्रजभाषा गद्य की प्रथम रचना -शृंगार रस मंडन -गोंसाई विट्ठलनाथ
  91. आधुनिक खड़ी बोली हिंदी गद्य का जनक -भारतेन्दु
  92. हिन्दी की पहली वैज्ञानिक कहानी -चन्द्र लोक की यात्रा
  93. फ्लेश बैक पद्धति आधारित प्रथम कहानी -उसने कहा था
  94. नवगीत परम्परा के सूत्रधार-अज्ञेय आधार प्रवर्तक -राजेंद्र प्रसाद सिंह
  95. हिन्दी आलोचना के प्रवर्तक – भारतेंदु
  96. हिन्दी के प्रथम लक्षण ग्रंथकार -केशवदास
  97. हिन्दी में रामभक्ति साहित्य सम्बन्धी प्रथम काव्य रचना -रामरक्षा स्त्रोत (रामानंद)

Leave a comment

Your email address will not be published.